स्वास्थ परीक्षण कराकर दो समय का भोजन एवं पानी के साथ किया रवाना - *संतोष सोनी*

स्वास्थ परीक्षण कराकर दो समय का भोजन एवं पानी के साथ किया रवाना - *संतोष सोनी*


मुलताईं। लॉक डाउन के दौरान महाराष्ट्र की ओर से पैदल आ रहे मजदूरों को करीब एक सप्ताह तक मुलताईं में रोककर रखा गया था।वही साईंखेड़ा में करीब 20  मजदुरो को प्रशासन द्वारा क्वारेटाइन जर रहा था। सभी मजदूर ग्वालियर जे आसपास के थे।मजदूरों द्वारा वापस गांव जाने की मांग कई दिनों से की जा रही थी। जिसके चलते प्रशासन द्वारा मजदूरों की जांच कराकर उन्हे दोनों समय का भोजन पानी उपलब्ध कराकर मुलताईं से बस द्वारा रवाना किया गया है। एसडीएम सीएल चनाप ने बताया कि लॉक डाउन के दौरान बढ़ी संख्या में मजदूर महाराष्ट्र की सीमा से मुलताईं में प्रवेश कर रहे थे। जिसमें से 7 मजदूर मुलताईं मे और 14 मजदूर साईंखेड़ा मे रुकवाए गए थे। सभी मजदूरों की स्क्रीनिंग करने के बाद क्वारटाइन कर रखा था। सभी मजदुर जाच में सामान्य पाए गए थे। जिन्हें प्रशासन द्वारा दोनों समय भोजन पानी उपलब्ध कराया जा रहा था। मजदूरों द्वारा कई दिनों से गांव जाने की मांग की जा रही थी।जिसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई थी। अधिकारियों से निर्देश प्राप्त होने के बाद सभी मजदूरों का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाकर सामान्य पाए जाने पर प्रशासन द्वारा निजी बस करके सोशल डिस्टेंस रख़ते हुए सभी मजदूरों को दोनों समय का भोजन पानी उपलब्ध कराकर ग्वालियर भेजा गया है।जो कि ग्वालियर जे आसपास के रहने वाले हैं।सीएमओ राहुल शर्मा ने बताया कि बस को सेनेटाइज करवाया गया है।जिसके बाद ही मजदूरी को बस ने बैठाल कर रवाना किया गया।


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
सम्पूर्ण भारतवासियों को दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से रक्षा बंधन की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं - दिनेश साहू प्रधान संपादक
Image
सिरोंज विधानसभा के पूर्व विधायक गोवर्धन उपाध्याय का लम्बी बीमारी से इलाज के दौरान निधन पूर्व विधायक प्रतिनिधि एवं दैनिक रोजगार के पल की वरिष्ठ सम्पादक श्रीमती परवीन खान ने दी जानकारी दैनिक रोजगार के पल परिवार अश्रुपूरित श्रद्धांजलि अर्पित करता है
Image
अग्रवाल समाज की भामाशाही परंपरा
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही