ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों को उनके ग्राम पंचायत में ही मनरेगा योजना से उपलब्ध कराया जा रहा है रोजगार


उमरिया - जिलं में ग्रामीण क्षेत्रों में श्रमिकों को उनकी ग्राम पंचायत में ही मनरेगा योजना के तहत रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा हैकलेक्टर स्वरोचिष सोमवंशी ने बताया है कि मनरेगा योजना के जाबकार्ड धारक श्रमिकों तथा ऐसे श्रमिक जो लाक डाउन के दौरान अपने गांव में वापस आए है ए को भी प्राथमिकता के साथ मनरेगा योजना से कार्य उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले में ऐसे श्रमिकों की संख्या 7098 है। उन्होंने यह भी बताया कि जिले की 233 ग्राम पंचायतों में मनरेगा योजना से 1766 कार्य संचालित है। प्रति ग्राम पंचायत मं औसत रूप से 150 से अधिक श्रमिक रोजगार मे लगाए गए हैमुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत अंशुल गुप्ता ने बताया कि जिले में 1766 कार्यो में 35 हजार 874 श्रमिक कार्यरत है। करकेली जनपद पंचायत में 722 ग्राम पंचायतों में 20 हजार 666 श्रमिकए मानपुर जनपद पंचायत में संचालित 900 कार्यो में 9372 श्रमिक तथा पाली जनपद पंचायत में 144 कार्यो में 5836 श्रमिक कार्यरत है।


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही