असहिष्णुता आज सबसे बड़ी कमजोरी बन के सामने आ गई है* - श्रीमती कल्पना बर्मन

*कोई पीएम मोदी की आलोचना करदे तो कहेंगे देश का अपमान कर रहे हैं* *कोई सरकार की आलोचना कर दे तो कहेंगे देशद्रोह कर रहे हैं* *कोई रक्षा नीति, विदेश नीति पर सवाल खड़े कर दे तो कहेंगे कि सेना का अपमान कर रहे हों* *कोई RSS की आलोचना कर दे तो कहेंगे धर्म का अपमान कर रहे हों* *कोई न्याय पर सवाल खड़ा कर दे तो कहेंगे संविधान का अपमान कर रहे हों* *और तो और अव बाबा रामदेव की आलोचरना को आयुर्वेद का ही अपमान बता दिया है* 


*ये वो लोग हैं जो पिछले 6 सालों से देश के पिछले 70 सालों के इतिहास को कोसते आए हैं सिर्फ कोसते* *अलोचना करना इन्हें खूब आता है लेकिन आलोचना सहने का सामर्थ्य इनमें बिल्कुल नहीं है इसलिए ये थोड़ी सी आलोचना से विचलित हो जाते हैं* *ये सब बाते आज की राजनीतिकता व समाजिकता के गिरते स्तर को व्यां कर रही हैं* *असहिष्णुता आज सबसे बड़ी कमजोरी बन के सामने आ गई है* *इस कमजोरी से उभरने का प्रयास अति जरूरी है नहीं तो ये बढती ही जाएगी और सब को अपनी चपेट में ले लेगी* 🇮🇳🇮🇳🇮🇳


Popular posts
माँ कर्मा देवी जयंती की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं- दिनेश साहू प्रवक्ता मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी
Image
शत्रु ये अदृश्य है विनाश इसका लक्ष्य है - शरद गुप्ता /इंस्पेक्टर मुम्बई पुलिस
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
बेवजह घर से निकलने की,  ज़रूरत क्या है | मौत से आंख मिलाने  की,  ज़रूरत क्या है || भगवान जावरे