गोरक्षा प्रमुख रवि विश्वकर्मा को गोलियों से भूना


फिल्मी स्टाईल में चार पहिया वाहन अड़ाकर करीब 6 लोगों ने उन पर राड, लाठियों से हमला कर दिया और ताबड़ तोड़ गोलियां दागने लगे



(श्रीमति मोनिका उपाध्याय - सह संपादक) - पिपरिया/होशंगाबाद -


पिपरिया में गोरक्षा प्रमुख रवि विश्वकर्मा को गोलियों से भून दिया उनकी रास्ते में अस्पताल ले जाते वक्त मौत हो गई। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला गोरक्षा प्रमुख रवि विश्वकर्मा की शुक्रवार शाम फिल्मी स्टाइल में गोली मारकर हत्या कर दी गई, पूरी वारदात सुपारी किलिंग को दर्शा रही है, पुलिस का अनुमान है कि हत्या का कारण गैंगवार भी हो सकता हैशुक्रवार को रवि कार में अपने तीन साथियों के साथ होशंगाबाद में बैठकर से लौट रहे थे, पिपरिया में काली मंदिर साईड से अंडरब्रिज पार करते ही उनकी कार को एक चार पहिया वाहन अड़ाकर रोक दिया गया कार में से करीब आधा दर्जन लोग उतरे और रॉड, लाठियां लेकर हमला कर दिया और रवि पर गोलियां दागने लगे।


लहुलुहान रवि ने रास्ते में ही अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया रवि के साथ बैठे भूरा पटेल के अनुसार आरोपियों के आते ही रवि के इशारे पर हम भाग निकल। हमलावरों ने मुझे भी राड मारी जिससे मुझे भी हमले में चोट आई है। विश्वस्त सूत्रों से ज्ञात हुआ है कि रवि सफेदपोशों को बेनकाब करने कि चेतावनी दे लगातार दे रहे थेउनहोंने अपने फेसबुक एकाउंट पर 2 जून से 16 जून तक अज्ञात लोगों के चेहरे से नकाब उतारने की चेतावनी दे रहे थे एक पोस्ट में उन्होंने यह भी लिखा था कि मेरे संगठन के लोगों से अगर किसी ने कुछ किया तो चौराहे पर **** कर दूंगा इसके अलावा और कई पोस्टें भी उन्होनें डाली थीछोटे भाई अमित कि शिकायत पर 10 लोगों नीतू वंशकार, मुन्ना पटेल, संजू पटेल, अभी तिवारी, अभिषेक चौरसिया, कल्लू मेहरा, नितिन सिलावट, रज्जू पुरबिया, अजित पटेल अन्य के खिलाफ पुलिस ने शिकायत दर्ज कि है


Popular posts
आज हेहल सरना समिति के कुछ लोगों ने मोहल्ले में सबको चावल दाल सब्जी का वितरण किया
Image
अगर आप दुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा दुखी रहेंगे और सुख पर ध्यान देंगे तो हमेशा सुखी रहेंगे
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
कोरोना के एक वर्ष पूरे आज ही के दिन चीन में कोरोना का पहला केस मिला था
Image