नेपाल नक्शा विवाद: नेपाल के प्रधानमंत्री ओली ने भारत के बातचीत के प्रस्ताव को छिपाया. भारत ने नेपाल को दिया था बातचीत का प्रस्ताव


नेपाल के प्रधानमंत्री ओली ने अपने देश की संसद से और पार्टी के दसरे नेताओं से भारत के बातचीत के प्रस्ताव को छिपाया. सूत्रों के हवाले से - जब संशोधन प्रस्ताव सदन के पटल पर रखा गया था उससे पहले ही वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से बातचीत का प्रस्ताव दिया गया था. नेपाली प्रधानमंत्री पीएम ओली के इस एकतरफ़ा कदम ने कठिन स्थिति पैदा कर दी है और भविष्य की किसी भी वार्ता के परिणाम को पहले से तय' कर दिया है."


इस नए नक्शे में नेपाल ने अब आधिकारिक रूप से लिपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा को नेपाली क्षेत्र के रूप में दिखलाया है जिसे लेकर भारत और नेपाल के बीच तनाव की स्थिति है. भारत के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार को बातचीत से इस मुद्दे को सुलझाने की बात कही थी. जबकि नेपाल के प्रधानमंत्री यह आरोप लगाते रहे हैं कि बातचीत उनकी पहल पर दिल्ली की ओर से कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया गया.


Popular posts
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बीती देर रात सांसद दुर्गादास उईके ने ग्राम पिपरी पहुंचकर हादसे में मृतकों के परिजनों से की मुलाकात ।
Image
ग्राम बादलपुर में धान खरीदी केंद्र खुलवाने के लिये बैतूल हरदा सांसद महोदय श्री दुर्गादास उईके जी से चर्चा करते हुए दैनिक रोजगार के पल के प्रधान संपादक दिनेश साहू
Image
रायसेन में डॉ राधाकृष्णन हायर सेकंडरी स्कूल के पास मछली और चिकन के दुकान से होती है गंदगी नगर पालिका प्रशासन को सूचना देने के बाद भी नहीं हुई कोई कार्यवाही