थमती नहीं, *जिंदगी* कभी, किसी के बिना ।। मगर, यह *गुजरती* भी नहीं, अपनों के बिना ।। - श्रीमती संगीता साहू बरझर मध्यप्रदेश


जो कह दिया वह *शब्द* थे ;


जो नहीं कह सके वो *अनुभूति* थी ।।


और, जो कहना है मगर ;


कह नहीं सकते, वो *मर्यादा* है ।।


*जिंदगी* का क्या है ? आ कर *नहाया*,


और, *नहाकर* चल दिए ।। *


बात पर गौर करना*- ---- *


पत्तों* सी होती है कई *रिश्तों की उम्र*,


आज *हरे*-------! कल *सूखे* -------!


क्यों न हम, *जड़ों* से; रिश्ते निभाना सीखें ।।


रिश्तों को निभाने के लिए,


कभी *अंधा*, कभी *गूँगा*,


और कभी *बहरा* ; होना ही पड़ता है ।।


*बरसात* गिरी और *कानों* में इतना कह गई कि---------! *गर्मी* हमेशा किसी की भी नहीं रहती ।।


*नसीहत*, *नर्म लहजे* में ही अच्छी लगती है ।


क्योंकि, *दस्तक का मकसद*,


*दरवाजा* खुलवाना होता है; तोड़ना नहीं ।।


*घमंड*-----------! किसी का भी नहीं रहा,


*टूटने से पहले* , *गुल्लक* को भी लगता है कि ;


*सारे पैसे उसी के हैं* ।


जिस बात पर , कोई *मुस्कुरा* दे;


बात --------! बस वही *खूबसूरत* है ।।


थमती नहीं, *जिंदगी* कभी, किसी के बिना ।।


मगर, यह *गुजरती* भी नहीं, अपनों के बिना ।।


Popular posts
भगवान पार ब्रह्म परमेश्वर,"राम" को छोड़ कर या राम नाम को छोड़ कर किसी अन्य की शरण जाता हैं, वो मानो कि, जड़ को नहीं बल्कि उसकी शाखाओं को,पतो को सींचता हैं, । 
Image
राज्यपाल श्री लालजी टंडन ने प्रदेशवासियों को ईद उल फितर की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दी
Image
एक ऐसी महान सख्सियत की जयंती हैं जिन्हें हम शिक्षा के अग्रदूत नाम से जानते हैं ।वो न केवल शिक्षा शास्त्री, महान समाज सुधारक, स्त्री शिक्षा के प्रणेता होने के साथ साथ एक मानवतावादी बहुजन विचारक थे। - भगवान जावरे
Image
श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर साहू समाज" घोड़ा निक्कास भोपाल  में "मां कर्मा देवी जयंती" के शुभ अवसर पर भगवान का फूलों से भव्य श्रृंगार किया गया।
Image
कान्हावाड़ी में बनेगी अनूठी नक्षत्र वाटिका, पूर्वजों की याद में लगायेंगे पौधे* *सांसद डीडी उइके एवं सामाजिक कार्यकर्ता मोहन नागर ने कान्हावाड़ी पहुँचकर किया स्थल निरीक्षण
Image