कोरोना मुक्त हुआ जिला अलीराजपुर 

कोरोना मुक्त हुआ जिला अलीराजपुर 
(सुनील जोशी )
अलीराजपुर- संभागायुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने बताया है कि इंदौर संभाग का आलीराजपुर जिला कोरोना मुक्त हो गया है। यहाँ आज कोरोना के 2 पॉज़िटिव मरीज़ की रिपोर्ट निगेटिव आने से उन्हें जिला अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। इसके पूर्व इस ज़िले से एक मरीज़ इन्दौर से पहले ही स्वस्थ होकर घर जा चुके हैं। कलेक्टर आलीराजपुर श्रीमती सुरभि गुप्ता के अनुसार आज की स्थिति में आलीराजपुर ज़िले में एक भी कोरोना पॉज़िटिव केस नहीं है।
  आलीराजपुर ज़िले ने कोरोना की विभीषिका का सामना करने की दिशा में एक मिसाल क़ायम की है। गुजरात बॉर्डर पर स्थित होने के कारण यहाँ अनेक चुनौतियाँ थीं। कलेक्टर श्रीमती सुरभि गुप्ता के मार्गदर्शन में बनायी गई कार्ययोजना में जहाँ एक ओर सीमाओं पर कड़ा ध्यान दिया गया वहीं इस आदिवासी अंचल में रोज़गार की उपलब्धता सुनिश्चित कराने के लिए बड़ी संख्या में जल संरक्षण कार्य भी प्रारंभ कराए गए। आलीराजपुर ज़िले में गुजरात से मध्यप्रदेश के विभिन्न ज़िलों में जाने वाले मज़दूरों के लिए भी उम्दा व्यवस्थाएं की गई और यहाँ एक कैंप में सभी मज़दूरों का स्वास्थ्य परीक्षण करने के उपरांत उन्हें विभिन्न ज़िलों में भेजा गया।
*तीनों कोरोना पाजीटीव को मिली अस्पताल से छुट्टी*
*चिंता के पलों में खुशियों भरी खबर -जांच रिपोर्ट नेगेटीव आई*
*अस्पताल स्टॉफ ने पुष्पवर्षा कर दी विदाई*
  म.प्र. के पश्चिमी छोर पर बसे आदिवासी बाहुल्य आलीराजपुर जिले से 3 मई 2020 को सुखद खबर आई। जिले के उदयगढ और चन्द्रशेखर आजाद नगर (भाभरा) में कोराना वायरस के संक्रमित शेष 2 पॉजिटीव केस पूरी तरह से स्वस्थ्य होकर अपने घरों को लौटे। जिले में कोरोना पॉजिटीव तीन केस जिसमें दो पुरूष एवं एक महिला चिन्हांकिन हुए। उक्त तीनों कोरोना पॉजिटीव केस अस्पताल से छुट्टी मिलने पर स्वस्थ्य होकर अपने-अपने घरों को पहुंच गए है। जिले के प्रथम कोरोना पॉजिटीव 52 वर्षीय श्री इंतजार खान निवासी उदयगढ 30 अप्रैल 2020 को इंदौर से डिस्चार्ज हुए। वहीं दो अन्य जिसमें 26 वर्षीय श्रीमती ममता बिन्द निवासी उदयगढ एवं 50 वर्षीय श्री मुकेश कुमार शर्मा निवासी चन्द्रशेखर आजाद नगर की जांच रिपोर्ट नेगेटिव आने पर आलीराजपुर जिला अस्पताल में बनाए गए कोरोना आईसोलेशन वार्ड से 3 मई 2020 को डिस्चार्ज किया गया। आलीराजपुर अस्पताल से छुट्टी मिलने पर उक्त दोनों व्यक्तियों को सीएमएचओ डॉ. प्रकाश ढोके, सिविल सर्जन डॉ. के.सी. गुप्ता एवं चिकित्सकों, पेरोमेडीकल स्टॉफ एवं अन्य अस्पताल स्टॉफ ने पुष्पवर्षा करके घर की ओर विदा किया। 
*स्टॉफ ने हिम्मत दी, डॉक्टरों ने मनोबल बढ़ाया, तो जीत ली कोरोना से जंग - मुकेश कुमार शर्मा*
 जिले के पहले कोरोना पॉजिटिव केस के संपर्क में आने से चन्द्रशेखर आजाद के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर पदस्थ मलेरिया इंस्पेक्टर श्री मुकेश कुमार शर्मा 17 अप्रैल को पॉजिटिव के रूप में चिन्हांकित हुए। इसके बाद जिला चिकित्सालय के कोरोना आईसोलेशन वार्ड में भर्ती रहे। श्री शर्मा के दो सैम्पल जांच हेतु भेंजे गए, जिनकी रिपोर्ट नेगेटीव आने पर आज 3 मई 2020 को श्री शर्मा को जिला अस्पताल से छुट्टी मिली। अस्पताल से छुट्टी मिलने पर अस्पताल स्टॉफ ने पुष्प वर्षा करके श्री शर्मा को विदाई दी। श्री शर्मा ने बताया कि कोरोना पॉजिटीव रिपोर्ट आने पर मैं शुरू में थोड़ा डरा और चिंतित था, लेकिन हॉस्पिटल के चिकित्सकों, नर्सेस एवं स्टॉफ ने मुझे हिम्मत दिलाई। उन्होंने कहा कि हिम्मत नहीं हारना हौसला बनाए रखे, हम सब तुम्हारे साथ हैं। उन्होंने मुझे निराश नहीं होने दिया। मेरे अन्दर नकारात्मक भाव उत्पन्न ही नहीं होने दिए। भर्ती रहने के दौरान लगातार मेरा मनोबल बढ़ाया। श्री शर्मा ने बताया कोरोना पॉजिटिव होने का मतलब जिंदगी खत्म नहीं है। नियमों का पालन और पॉजिटिव सोच से हम कोरोना को हरा सकते है। उन्होंने कोरोना को हराने का मंत्र देते हुए कहा मुंह पर मॉस्क, हाथों को थोड़े-थोड़े समय में साबुन एवं सेनेटाइजर से साफ करें। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। समय पर दवाई लेते रहें और खास बात हिम्मत कभी नही हारें। 
*डरे नहीं हौसला बनाए रखे, कोरोना को हराया जा सकता है - श्रीमती ममता बिन्द*
  जिले के उदयगढ निवासी श्रीमती ममता बिन्द को 17 अप्रैल को कोरोना पाजीटीव की पुष्टि हुई। उनके संक्रमण का सोर्स जिले का प्रथम कोरोना पाजीटीव संक्रमित था। श्रीमती ममता की कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद ही उन्हें जिला चिकित्सालय अलीराजपुर में बनाए गए कोरोना आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया था। यहां उनके दो ओर सेम्पल जांच हेतु भेजें गए।  उक्त दोनों सैम्पल की रिपोर्ट निगेटीव आई। 3 मई 2020 को श्रीमती ममता बिन्द की अस्पताल से छुट्टी हुई। अस्पताल स्टॉफ ने पुष्प वर्षा करके श्रीमती बिन्द का सम्मान किया और उन्हें शुभकामनाएं दी। डिस्चार्ज होने के पश्चात श्रीमती बिन्द ने बताया कि हॉस्पिटल में डॉक्टर्स एवं स्टॉफ ने अच्छी सेवा की। लगातार हौसला बढाया, जिससे निराशा के भाव कभी मन में नहीं आए। अस्पताल स्टॉफ के कारण ही मैं स्वस्थ होकर अपने घर लौट रही हूं। जब मेरी कोरोना रिपोर्ट पाजीटीव आई थी, तब मैं बहुत डर गई थी, लेकिन अस्पताल स्टॉफ ने हर समय हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा मैं तो लोगों से कहना चाहती हूं कि कोरोना से डरे नहीं। उन्होंने कहा मैं डॉक्टर, नर्स, प्रशासन और पुलिस का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जिन्होंने इस मुश्किल की घडी में इतना साथ दिया।


Popular posts
ग्रामीण आजीविका मिशन मे भ्रष्टाचार की फिर खुली पोल, प्रशिक्षण के नाम पर हुआ घोटाला, एनसीएल सीएसआर मद से मिले 12 लाख डकारे
Image
बैतूल पाढर चौकी के ग्राम उमरवानी में जुआ रेड पर जबरदस्त कार्यवाही की गई
Image
मोहम्मद शमी ने कहा, निजी और प्रोफेशनल मसलों की वजह से 'तीन बार आत्महत्या करने के बारे में सोचा'
Image
दैनिक रोजगार के पल परिवार की तरफ से समस्त भारतवासियों को दीपावली पर्व की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं
Image
मामला लगभग 45 लाख की ऋण राशि का है प्राथमिक कृषि सेवा सहकारी समिति मर्यादित चोपना के लापरवाही का नतीजा भुगत रहे हैं गरीब किसान